RAKHO MERI LAAJ SABHA KE BEECH HANUMAN BHAJAN LYRICS


RAKHO MERI LAAJ SABHA KE BEECH HANUMAN BHAJAN LYRICS 

रखो  मेरी लाज सभा के बीच 
पवन सुत अंजनी के लाला

लाल लंगोटा हाथ में सोटा 
चले पवन की चाल 
रखो  मेरी लाज सभा के बीच 
पवन सुत अंजनी के लाला

एक दिन बाग़ घुमन को गए थे 
मिल गए दशरथ के लाला 
मिल गए दशरथ के लाला 
रखो  मेरी लाज सभा के बीच 
पवन सुत अंजनी के लाला

एक दिन लंका घुमन गए थे 
लगयाए सीता का पता 
लगयाए सीता का पता
रखो  मेरी लाज सभा के बीच 
पवन सुत अंजनी के लाला

एक दिन ताल घुमन को गए थे 
ले आये सरजीवन माला 
ले आये सरजीवन माला 
रखो  मेरी लाज सभा के बीच 
पवन सुत अंजनी के लाला

एक दिन लंका घुमन गए थे 
जलाये आये सोने की लंका 
जलाये आये सोने की लंका 
रखो  मेरी लाज सभा के बीच 
पवन सुत अंजनी के लाला




Post a Comment

0 Comments