Lalita lagan lagi murli wale se kahi kaun se jaye lyrics

Lalita lagan lagi murli wale se kahi kaun se jaye lyrics 




Lalita lagan lagi murli wale se kahi kaun se jaye lyrics 


ललिता लगन लगी मुरली वाले से कहीं कौन से जाए

कहीं कौनसे जाए सखी री कहीं कौन से जाए


मेरे रामा जो में  ऐसा जानती प्रीत करे दुख होय 

नगर ढिंढोरा पीटती प्रीत ना करियो कोई 

ललिता लगन लगी मुरली वाले से कहीं कौन से जाए


मीरा को गिरधर मिले और राधा को कृष्ण मुरारी 

जो मोहे मिलते श्याम सलोने हृदय लेती बसाए 

ललिता लगन लगी मुरली वाले से कहीं कोंन से  जाए 

मेरे रामा राधे मेरी स्वामिनी और मैं राधे को दास 

जनम जनम मोहे दीजिए वृंदावन को वास

Post a Comment

0 Comments