Chetawani bhajan lyrics in hindi Pani bin jindgani lyrics

Pani bin jindgani lyrics (Save water poem\geet )



Pani bin jindgani akharat jindgani bin pani me " Chetawani bhajan lyrics in hindi 


पानी बिन जिंदगनी अखारत 

बिन पानी जिंदगनी है 


नारायण ने जनम लियो 

तब कमल खिला दियों पानी में 

वायी कमल पे ब्रह्मा जन्मे श्रस्टी रचा दी पानी में 

पानी बिन जिंदगनी अखारत 

बिन पानी जिंदगनी है 


राम चंद्र सिया वन को चले तब नाव डाल दयी पानी में 

केवट भैया नैया डालो पार लगा दो पानी में 

पानी बिन जिंदगनी अखारत 

बिन पानी जिंदगनी है 


पराशर जब वन से लौटे नाव डाल दयी पानी में 

जब जयी नैया बीच भँवर में भोग लगा दयो पानी में

पानी बिन जिंदगनी अखारत 

बिन पानी जिंदगनी है