बहन तू फिर पीछे पछताएगी || LYRICS

बहन तू फिर पीछे पछताएगी || LYRICS 


बहन तू फिर पीछे पछताएगी लेले नाम गुरु का
बूढ़ी है तेरे आँखों से दिखे न
बहन तू दर्शन कैसे पाएगी लेले नाम गुरु का

बूढी है तेरे कानो से सुने न
बहन तू सत्संग कैसे सुन लेगी लेले नाम गुरु का
बहन तू फिर पीछे पछताएगी लेले नाम गुरु का

बूढी है तेरी झीभ चले तू भजन कैसे सुनाएगी
लेले नाम गुरु का
बहन तू फिर पीछे पछताएगी लेले नाम गुरु का

बूढी है तेरे हाथ चले न बहन तू सेवा कैसे कर लेगी
लेले नाम गुरु का
बहन तू फिर पीछे पछताएगी लेले नाम गुरु का

बूढी है तेरे पैर चले न
बहन तू तीरथ कैसे जायेगी
बहन तू फिर पीछे पछताएगी लेले नाम गुरु का


Post a Comment

0 Comments