त्रिनेत्र धारी के तीन(3) भजन || तीनो एक से बढकर एक bhole ji ke teen bhajan hindi lyrics

Dosto aaj jin bhajano ke lyrics mai aapko dene wali hu vo teen bhajan hai or teeno bahut hi acche bhajan hai .jo phla bhajan hai vo hai saj rahe bhole baba lyrics hindi or jo dusra bhajan hai vo hai gaura gaura baat maan le jo ki bahut hi accha bhole ji ka bhajan hai jiske bhi lyrics mene aapko hindi me diya hai or jo akhiri bhajan hai vo ek punjabi touch me hai jo ki hai leke kandhe pe bhole ki kawad aaj menu nach len de .


LYRICS


BHAJAN 1

सज रहे भोले बाबा दूल्हे के कमरे में 

दूल्हे के कमरे में , दूल्हे के कमरे में
दूल्हे को बुलाओ बम भोले
भोले को बुलाओ बम भोले
सज रहे भोले बाबा दूल्हे के कमरे में

नंदी को बुलाओ बम भोले
नंदी को सजाओ बम भोले
भोले को बैठाओ बम भोले
सज रहे भोले बाबा दूल्हे के कमरे में
दूल्हे के कमरे में , दूल्हे के कमरे में

ब्रह्मः को बुलाओ बम भोले
विष्णु को बुलाओ बम भोले
विदा करवाओ बम भोले
सज रहे भोले बाबा दूल्हे के कमरे में
दूल्हे के कमरे में , दूल्हे के कमरे में

पंडित को बुलाओ बम भोले
गौरा को बुलाओ बम भोले
फेरे डलवाओ बम भोले
सज रहे भोले बाबा दूल्हे के कमरे में
दूल्हे के कमरे में , दूल्हे के कमरे में

मैना को बुलाओ बम भोले
राजा को बुलाओ बम भोले
हिमाचल को बुलाओ बम भोले
विदा करवाओ बम भोले
सज रहे भोले बाबा दूल्हे के कमरे में
दूल्हे के कमरे में , दूल्हे के कमरे में

BHAJAN 2


गौरा गौरा बात मान ले
मत पीहर का जीकर करे
क्यों गौरा भांग में विघन करे

बूढ़ा बूढ़ा बैल नदिया
बूढ़ा बूढ़ाबूढ़ा बूढ़ा बैल नदिया
बिन तेरे न बंधा करे
मत गौरा भांग में विघन करे
गौरा गौरा बात मान ले
मत पीहर का जीकर करे
क्यों गौरा भांग में विघन करे

लम्बी लम्बी जटा है मेरी
लम्बी लम्बी लम्बी लम्बी जटा है मेरी
बिन तेरे न सुलझा करे
मत गौरा भांग में विघन करे
गौरा गौरा बात मान ले
मत पीहर का जीकर करे
क्यों गौरा भांग में विघन करे

कच्ची कच्ची भांग कड़ी है
कच्ची कच्ची कच्ची कच्ची भांग कड़ी है
बिन तेरे न घुटा करे
मत गौरा भांग में विघन करे
गौरा गौरा बात मान ले
मत पीहर का जीकर करे
क्यों गौरा भांग में विघन करे

छोटे छोटे बालक मेरे
छोटे छोटे छोटे छोटे बालक मेरे
बिन माँ के न रिह्या करे
मत गौरा भांग में विघन करे
गौरा गौरा बात मान ले
मत पीहर का जीकर करे
क्यों गौरा भांग में विघन करे

कुण्डी सौता तोड़ के चली
कुण्डी सौता कुण्डी सौता तोड़ के चली
जिसमे भांग ये घुटा करे
मत गौरा भांग में विघन करे
गौरा गौरा बात मान ले
मत पीहर का जीकर करे
क्यों गौरा भांग में विघन करे

BHAJAN  3


लेके कंधे पे भोले की कावंड
आज मेनू नाच लें दे
मन्ने रोको न कोई टोको
में दीवाना होगया लोगो
नाम भोले का जप लेंन  दे
आज मेनू नाच लेन दे 

मन मेरा झूमे रे
सावन की मस्ती में
मस्ती का रंग आज भोले की मस्ती में
साडी दुनिया है ये झूटी
सच्ची भोले की है बूटी
मन्ने आज नाम जप लेन दे
आज मेनू नाच लेन दे

भूल गया आज मोह माया का झगड़ा
हरी हरी भंगिया में लावण दे रगड़ा
मन्ने रोको न कोई टोको में दीवाना होगया भोले का 
त्रिनेत्र धारी के तीन(3) भजन || तीनो एक से बढकर एक bhole ji ke teen bhajan hindi lyrics त्रिनेत्र धारी के तीन(3) भजन || तीनो एक से बढकर एक bhole ji ke teen bhajan hindi lyrics Reviewed by dehatigeetmala on July 27, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.