Mata Rani Bhajan in Hindi maa ki katha sunau mai

This is a mata rani bhajan lyrics in hindi in this bhajan lyrics , 51 shakti peeth ke bare me bataya gaya hai , ye katha hame sandesh deti hai ki jaha hamara maan na ho samman na ho vaha hame nahi jana chaiye , or yadi ham kisi ke yahan bina bulaye jate hai to apmaan hi sehna padta hai .




Bhajn Lyrics In Hindi 



ध्यान लगाकर सुनियो रे 
मां की महिमा गांऊ में 
हो मां की कथा सुनाओ मैं
एक दिना का जिक्र सुनाओ 
राजा था वह बड़ा भारी 
प्रजापति नाम उसका 
जाने थी उन्हें दुनिया सारी 
दान पुण्य करने की खातिर
यज्ञ रचाया बड़ा भारी
हवन सामग्री मंगवाई 
उन्हें किया सब सामान तैयार
देवता बुलाए सारे शंकर का ना करा ध्यान 
इसी  बात पर शंकर जी की हो गई थी आन कांन
हो शंकर ने नहीं बुलाओ मैं 
ध्यान लगाकर सुनो 
मां की महिमा गाउ में 
हो मां की कथा सुनाऊ में

पार्वती कहने लगी मेरे पिता ने यज्ञ  राचाया 
मैंने  उड़े  जाना होगा 
बेशक न्योता नहीं आया 
शंकर जी यू कहने लगे तेरे पिता ने किया है अपमान मेरा 
बिना बुलाए चला जाता कोन्या हो सम्मान मेरा 
देवता बुलाए सारे को ना किया ध्यान मेरा हो 
पार्वती तने समझाऊं मैं
बेशक चली जाइए रे गोरा 
कोना रोकू में 
ओ मां की कथा सुनाऊ में

पार्वती चाल पड़ी शंकर की ना मानी बात 
वहां पर जाकर लागी कालजे में लगी आग 
बिना बुलाए तो उसकी न्यू है बिगड़े जात 
हो मां की कथा सुनाओ में 
ध्यान लगाकर सुनो 
मां की महिमा गाउ मै 
हो मां की कथा सुनाओ

सभी देवता आए हुए सब के फोटो लाए हुए 
ना शंकर का फोटो आया ना शंकर जी आए हुए हो 
पिताजी तेरा यग रचवाऊ में 
हवन कुंड में कूद पड़ी इब जिन मर जाऊं मैं 
हो माँ  की कथा सुनाऊ में 
ध्यान लगाकर सुनो रे मां की महिमा गांव में 
हो मां की कथा सुनाऊ में 

हवन कुंड में कूद पड़ी मांच गई हाहाकार 
सभी देवता आगे पढ़कर गोरा को लिया है साथ 
आधी  काची आदि पाकी हमन तकरी है बार 
हो  मां की कथा सुनाऊ में 
ध्यान लगाकर सुनो मां की महिमा गांव में 
हो मां की कथा सुनाऊ में
सभी देवता डर के मारे आपस मैं यू कर रहे बात 
राजा ने अन्याय किया शंकर का न किया ध्यान 
शंकर जी ने गोरा जी से एक ही सवाल किया 
थोड़ी सी देर रुक जाइए रे गोरा 
जल्दी आओ मैं 
हो रे बिगड़ी बात बनाऊ  मैं

शंकर जी जब चल पड़े हाथ में था धनुष बाण 
शंकर जी ने तीर मारे हम हो गए न्यारे न्यारे 
जहां पर नैन पड़े गौरा के वहां पर बनी नैना माई 
जहां पर जीव पड़ी गोरा की वहां पर बन गई काली माई 
जहां पर भुजा पड़ी गोरा की अन्नपूर्णा मां कहलाई 
जहां पर चरण पड़े गोरा के चरण पादुका मां कहलाए 
जहां पर अंग पड़े गौरा के मंदिर बन गए आलीशान 
हो तेरी पूजा करवाओ में 
ध्यान लगाकर सुनियो रे  मां की महिमा गांव में 
हो मां की कथा सुनाऊ में 
रोया मत ना मेरे भक्तों अब जल्दी आओ मैं 
हो मां की कथा सुनाऊ में 
जब जब भीड़ पड़ी भक्तों पर दरस दिखाऊं मैं
हो माँ की कथा सुनौ में 

Post a Comment

0 Comments