Lyrics of bhajan gadi hanki nahi kabhi


LYRICS OF GADI HANKI NAHI KABHI 

गाड़ी हाँकि नहीं कभी 
अब मेरे कौन बनाए रख वालो

हाकू बैल बैल नहीं चलते 
बैठ जाए तिल भर नहीं हिलते
चारों और चली  
अब मेरे कौन बनाए रख वालो 
गाड़ी हां कि नहीं कभी 
अब मेरे कौन बनाए रख वालो

नरसी भगत की भक्ति निराली 
आए लाल लंगोट मार लिए 
गढ़वाली का रूप डालकर 
आए गए आप हरी 
अब मेरे कौन बनाए रख वालो

मैं भी गढ़ सिरसा को जाऊं
हां गूंगे में  हुकम तेरो मानूं 
पहुंचाए दे अभी 
अब मेरे कौन बनाए रख वालो

सतगुरु कहे राम गुण गाए गए 
सब देवन को शिश ना बाय थे 
दर्शन दे हरी 
अब मेरे कौन बनाए रख वालो

Post a Comment

0 Comments