Ghute Re Churma Ghut Rahi Daal



LYRICS 

उड़े घुटे रे चूरमा घुट(रंध) रही दाल 
बालाजी के मंदिर में 

मेरे सुसार कहे बहु बालाजी चली जा
मेरी सास कहे नाचेगी 
बालाजी के मंदिर में  
उड़े घुटे रे चूरमा घुट(रंध) रही दाल 
बालाजी के मंदिर में

मेरे जेठ  कहे बहु बालाजी चली जा
मेरी जेठनि कहे उड़े नाचेगी 
बालाजी के मंदिर में  
उड़े घुटे रे चूरमा घुट(रंध) रही दाल 
बालाजी के मंदिर में

मेरे देवर  कहे भाभी  बालाजी चली जा
मेरी देवरानी  कहे उड़े नाचेगी 
बालाजी के मंदिर में  
उड़े घुटे रे चूरमा घुट(रंध) रही दाल 
बालाजी के मंदिर में

मेरे नन्दोई  कहे भाभी  बालाजी चली जा
मेरी नन्द   कहे उड़े(वहाँ) नाचेगी 
बालाजी के मंदिर में  
उड़े घुटे रे चूरमा घुट(रंध) रही दाल 
बालाजी के मंदिर में


Post a Comment

0 Comments