Jo Khel Gaye Prano Pe shri ram ke liye



LYRICS

जो खेल गए गए प्राणो पे श्री राम के लिए 
एक बार तो हाथ उठाओ मेरे हनुमान के लिए 

सागर को लाँघ के जिसने सीता का पता लगाया 
प्रभु राम नाम का डंका लंका में जाए बजाय 
माँ अंजनी की ऐसी संतान के लिए
 एक बार तो हाथ उठाओ मेरे हनुमान के लिए 

लक्ष्मण को बचाने की जब सारी आशाए टूटी 
वे पवन वेग से जाकर ले आए संजीवन बूटी 
पर्वत को उठाने वाले बलवान के लिए 
एक बार तो हाथ उठाओ मेरे हनुमान के लिए 

विभीषण जी ने जब भक्ति पर प्रश्न उठाया 
तो पहाड़ के सीना मेरे हनुमान ने आज दिखाया 
माँ अंजनी की ऐसी संतान के लिए 
एक बार तो हाथ उठाओ मेरे हनुमान के लिए

Post a Comment

0 Comments