Mera maan bahu tu ghataiye mt na satsang bhajan hindi lyrics



SATSANG BHAJAN LYRICS 

सत्संग में जाने से हटाइये मत न 
मेरा मान बहु तू घटाइए मत न 

घर भी तेरा कोठी भी तेरी 
मेरी कोने में खाट बगाइये मत न 
मेरा मान बहु तू घटाइए मत न 
सत्संग में जाने से हटाइये मत न 
मेरा मान बहु तू घटाइए मत न 

बाहर ने आगे मांगता आया 
खाली हाथ खांदाइये मत न
मेरा मान बहु तू घटाइए मत न 
सत्संग में जाने से हटाइये मत न 
मेरा मान बहु तू घटाइए मत न 

अन्न भी तेरा धन भी तेरा 
मैंने दान कारन ते हटाइये मत न 
मेरा मान बहु तू घटाइए मत न 
सत्संग में जाने से हटाइये मत न 
मेरा मान बहु तू घटाइए मत न  

बेटा है मेरा आदमी तेरा 
मेरा बेटे ते मन पढ़वाइए मत न
मेरा मान बहु तू घटाइए मत न  
सत्संग में जाने से हटाइये मत न 
मेरा मान बहु तू घटाइए मत न 

बेटा तेरा पोता मेरा 
मन्ने बात करण ते हटाइये मत न 
मेरा मान बहु तू घटाइए मत न 
सत्संग में जाने से हटाइये मत न 
मेरा मान बहु तू घटाइए मत न 

भैंस भी तेरी गैया  भी तेरी 
दूध पे राड मचाइए मत न 
मेरा मान बहु तू घटाइए मत न 
सत्संग में जाने से हटाइये मत न 
मेरा मान बहु तू घटाइए मत न 

हर के घर ते आवे बुलावा 
मेरे बेटे ते  दूर मेरे पोते ते दूर हटाइये मत न 
मेरा मान बहु तू घटाइए मत न 
सत्संग में जाने से हटाइये मत न 
मेरा मान बहु तू घटाइए मत न 

लम्बे सांस मैंने जइब आँवे 
मेरे बेटे ने दूर हटाइये मत न 
मेरा मान बहु तू घटाइए मत न 
सत्संग में जाने से हटाइये मत न 
मेरा मान बहु तू घटाइए मत न 

Post a Comment

0 Comments