Karo chahe lakh chaturai bhajan lyrics in hindi language

Karo chahe lakh chaturai lyrics 




Karo chahe lakh chaturai lyrics in hindi



 करो चाहे लाख चतुराई 

उसी घर सबको जाना है 

बना है कांच का मंदिर 

उसी में भगवान रहते हैं 

लेकर पेन और कागज 

सभी की तकदीर लिखते हैं

टूटी जब बाग से डाली 

तो रोया बाग का माली 

बगीचा हो गया खाली 

हरि  घर सबको जाना है

पलंग के चार पाए बुढ़ापा 

सबको आए संभल कर ले 

चलो भाई सबको जाना है

लड़कपन खेल में खोया 

जवानी नींद भर सोया 

बुढ़ापा देख कर रोया 

उसी घर सबको जाना है