Meri ambe maa se puchna tera bhawan hai kitni door lyrics maiya bhajan lyrics in hindi

Meri ambe maa se puchna lyrics in hindi is the latest mata bhajan lyrics in hindi language 




Jagdambe ma se puchna bhjan lyrics 


 मेरी अम्बे मां से पूछना जगदम्बे मां से पूछना 

तेरा भवन है कितनी दूर छाले पड़ गए पांव में 


मैया कोयल कूं कू़ बोल रही 

और पपीहा मचायें शोर 

छाले पड गये पांव में 

मेरी अम्बे मां से पूछना

मेरी अम्बे मां से पूछना जगदम्बे मां से पूछना 

तेरा भवन है कितनी दूर छाले पड़ गए पांव में


मैया रिमझिम वर्षा हो रही 

और घटा हुई घनघोर

छाले पड़ गए पांव में 

मेरी अम्बे मां से पूछना 

मेरी अम्बे मां से पूछना जगदम्बे मां से पूछना 

तेरा भवन है कितनी दूर छाले पड़ गए पांव में


मैया छत्र नारियल भेंट चढ़ाऊं 

तेरी ज्योति जलाऊं सुबह शाम 

छाले पड़ गए पांव में 

मेरी अम्बे मां से पूछना जगदम्बे मां से पूछना 

तेरा भवन है कितनी दूर छाले पड़ गए पांव में


मैया हलवा छोले का भोग लगाऊ 

तेरा भंडारा कराऊं हर साल 

छाले पड़ गए पांव में 

मेरी अम्बे मां से पूछना 

मेरी अम्बे मां से पूछना जगदम्बे मां से पूछना 

तेरा भवन है कितनी दूर छाले पड़ गए पांव में


टोपे पान चढे टोपे फूल चढे 

तोपे  चढे दूध की धार 

छाले पड़ गए पांव में 

मेरी अम्बे मां से पूछना जगदम्बे मां से पूछना 

तेरा भवन है कितनी दूर छाले पड़ गए पांव में


तेरे आगे हनुमत चल रहे

तेरे पीछे भैरव है खड़ा 

और बीच बिराजे मेरी मा  

छाले पड़ गए पांव में 

मेरी अम्बे मां से पूछना जगदम्बे मां से पूछना 

तेरा भवन है कितनी दूर छाले पड़ गए पांव में


मैया शेर सवारी आ रही 

तेरी हो रही जय जयकार 

छाले पड़ गए पांव में 

मेरी अम्बे मां से पूछना

तेरा भवन है कितनी दूर छाले पड़ गए पांव में


Post a Comment

0 Comments