Na dena dosh kismat ko vapat to sabko aati hai lyrics

Na dena dosh kismat ko vapat to sabko aati hai lyrics ना देना दोष किस्मत को विपत तो सब पर आती है LYRICS 



 


Na dena dosh kismat ko vapat to sabko aati hai lyrics 


ना देना दोष किस्मत को विपत तो सब पर आती है 

ना देना दोष किस्मत को विपत तो सब पर आती है 

विपत आई अंधी अंधा पर 

लाल श्रवण सा पाया है 

ना देना दोष दशरथ को 

ना देना दोष दशरथ को 

विपत तो सब पर आती है 

ना देना दोष दशरथ को 

विपत तो सब पर आती है 

न देना दोष किस्मत को विपत्र तो सब पर आती है 

ना देना दोष किस्मत को 


विपत आई राजा दशरथ पर 

राम जब जा रहे वन को 

राम जब जा रहे वन को 

विपत आई राजा दशरथ पर 

राम जब जा रहे वन को 

रम जब ज रहे वन को 

ना देना दोष केकई को 

न देना दोष केकई को 

विपत तो सब पर आती है 

ना देना दोष किस्मत को विपत तो सब पर आती है 

ना देना दोष किस्मत को विपत तो सब पर आती है 


विपत्ति आई हम सब पर नाम  जब ले रहे थे माला 

नाम जप ले रहे थे माला 

विपत आई थी हम सब पर 

नाम जप ले रहे थे माला नाम जब ले रहे थे माला 

विपत् तो दूर जाती है विपत् तो दूर जाती है 

विपत तो दूर जाती है ना देना दोष किस्मत को 

विपत्र तो दूर जाती है ना देना दोष किस्मत को 

विपत तो सब पर आती है 

ना देना दोस्त किस्मत तो 

ना देना दोष किस्मत को विपत तो सब पर आती है 

ना देना दोष किस्मत को विपत तो सब पर आती है