जगदम्बे मां से पूछना छाले पड़ गए पांव में Mata bahajn lyrics in hindi

Jagdambe Maa se puchna chhale pad gaye panv me bhajan lyrics 



LYRICS 

मेरी अम्बे मां से पूछना 
जगदम्बे मां से पूछना 
तेरा भवन है कितनी दूर 
छाले पड़ गए पांव में 
तेरा भवन है कितनी दूर 
छाले पड़ गए पांव में 
जगदम्बे मां से पूछना 

मैया कोयल कूं कू़ बोल रही 
और पपीहा मचायें शोर
छाले पड गये पांव में 
मेरी अम्बे मां से पूछना 
तेरा भवन है कितनी दूर 
छाले पड़ गए पांव में 
जगदम्बे मां से पूछना 

मैया रिमझिम बरषा हो रही 
और घटा हुई घनघोर 
छाले पड़ गए पांव में 
मेरी अम्बे मां से पूछना 
तेरा भवन है कितनी दूर 
छाले पड़ गए पांव में 
जगदम्बे मां से पूछना 

मैया छत्र नारियल भेंट चढ़ाऊं 
तेरी ज्योति जलाऊं सुबह शाम 
छाले पड़ गए पांव में 
मेरी अम्बे मां से पूछना 
तेरा भवन है कितनी दूर 
छाले पड़ गए पांव में 
जगदम्बे मां से पूछना 

मैया हलुआ छोले का भोग लगाऊं
 तेरा भंडारा कराऊं हर साल 
छाले पड़ गए पांव में 
मेरी अम्बे मां से पूछना 
तेरा भवन है कितनी दूर 
छाले पड़ गए पांव में 
जगदम्बे मां से पूछना 

तेरे आगे हनुमत चल रहे 
तेरे पीछे भैरव चल रहे 
तेरे भवन की ऊंची शान 
छाले पड़ गए पांव में 
मेरी अम्बे मां से पूछना 
तेरा भवन है कितनी दूर 
छाले पड़ गए पांव में 
जगदम्बे मां से पूछना 

मैया शेर सवारी आ रही 
तेरी हो रही जय जयकार 
छाले पड़ गए पांव में 
मेरी अम्बे मां से पूछना
तेरा भवन है कितनी दूर 
छाले पड़ गए पांव में 
जगदम्बे मां से पूछना 

Post a Comment

0 Comments